टकटकी लगाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य में प्रयोग

Taktaki lagana muhavare ka arth or vakya prayog

टकटकी लगाना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग ( Taktaki lagana muhavare ka arth or vakya prayog )

शाब्दिक अर्थ : कमर कसना मुहावरे का अर्थ होता है लालसापुर्वंक लगातार देखना या लगातार देखना।

Shabdik Arth : Taktaki lagana muhavare ka arth : लगातार देखना

मुहावरे का वाक्य में प्रयोग : श्याम सुबह से खेत की और टकटकी लगाये देख देख रहा है।

मुहावरे से जुड़े कुछ वाक्य 

  • सकल शाम से में देख रहा हूँ की कबीर उस घर की और टकटकी लगाए देख रहा है। 
  • मैं अपने घर जा रहा था तो मुझे पता चला की रवि अपने दोस्त की और टकटकी लगाये देख रहा था। 

इस तरह से हम हिंदी के इस मुहावरे टकटकी लगाना के अर्थ को समझने का प्रयास किया है।

जैसा की इसके नाम से ही पता चलता है की टकटकी, केवल इस शब्द को देखने तो इसका मतलब कदापि यह नही है हम किसी दरवाजे पर या दिवार पर । इसका मतलब है किसी चीज़ को लगातार देखना। 

हिंदी में कई ऐसे मुहवारे है जो हम बातचीत के दोहरान बोलते है परन्तु हमे उनका मतबल पता नही होता है। टकटकी लगाना भी उन्ही में से एक मुहावरा है जिसके बारे में हमने इस आर्टिकल में बताया है।

अन्य मुहावरे

कमर कसना मुहावरे का अर्थ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *