राजस्थान की जनसँख्या कितनी है ? कौनसा जिला सबसे बड़ा है ?

Rajasthan ki jansankhya

Rajasthan ki jansankhya

Rajasthan ki jansankhya ( राजस्थान की जनसँख्या ) हमारा प्यारा भारत तथा आधिकारिक तौर पर भारत गणराज्य के नाम से जाने जाना वाला इस देश का सबसे बड़ी राज्य कौनसा है? क्या कभी अपने सोचा तथा जानने की कोशिश की है? नही ना! चलिये हम आपको बता देते है। 

राजस्थान आयतन तथा क्षेत्रफल के आधार पर भारत का सबसे बड़ा राज्य है। भारत के पश्चिम में बसा यह राज्य पडोसी देश पाकिस्तान के साथ अपनी अन्तराष्ट्रीय सीमा पाकिस्तान देश के पंजाब तथा सिंध प्रान्त से साथ बनता है. 

इसी कारण यह राज्य का राजनैतिक आधार पर भी काफी महत्वपूर्ण है। कभी आपने सोचा है की इस राज्य की जनसँख्या कितनी है ? नही ना! चलिये इस लेख के माध्यम से हम जानते है कि राजस्थान की जनसंख्या कितनी है? इसके साथ साथ कई और विषय पर भी चर्चा करेंगे।

राजस्थान की भौगालिक स्थिति –

भारत के पश्चिमी भाग में बसा यह राज्य भारत के सभी महत्वपूर्ण राज्यों में से एक है। 1070 km तक की सीमा यह अपने पडोसी देश पाकिस्तान के साथ बनाता है जो के रेड क्लिप लाइन के नाम से जानी जाती है। 

इस राज्य के कुल भूभाग का लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा रेगिस्तान होने के कारण जीवन यहाँ काफी मुश्किल हो जाता है, हालांकि पहले की भाँती अब यहाँ पर जीवन यापन करना बेहद ही आसान हो जाता है। भारत में थार रेगिस्थान राज्य के ज्यादातर हिस्से में फैले होने के कारन रेगिस्तान को इसे ” Desert state of India ” के नाम से भी जाना जाता है।

3,42,239 वर्ग किलो मीटर में फैला यह राज्य भारत का सबसे बड़ी राज्य है। यह राज्य प्रशसनिक दृष्टि से 33 जिलो तथा 244 तहसील में विभाजित है, जिसका शासन राजस्थान सरकार तथा भारतीय प्रशासनिक सेवा अधिकारी और राज्य प्रशासनिक सेवा अधिकारी द्वारा चलाया जाता है।

भौगालिक स्थिति पर नजर डालें तो यह राज्य 23° 3 से 30° 12 अक्षांश और 69° 30 से 78° 17 देशांतर रेखा में स्थित है। अरावली पर्वत श्रृंखला इस राज्य को दो हिस्सों में विभाजित करती है। राजस्थान की पूर्वी संभाग पश्चिम के मुकाबले ज्यादा उपजाऊ तथा हरियाली रहा है। सालाना औसतन 50 से लेकर 90 सेंटीमीटर की बारिश के वजह से यहां खेती करना थोड़ा आसान है।

राजस्थान की जनसँख्या कितनी है ?

राजस्थान की जनसँख्या तथा आबादी के बारे में चर्चा करने से पहले जान लेते है कि जनसँख्या किसे कहते है। “किसी भी निर्दिष्ट प्रान्त तथा इलाके में रहने वाले सभी मनुष्य तथा उनके समूह को जनसँख्या कहा जाता है “। 

यह किसी राज्य, जिला, गांव तथा देश भी हो सकता है। भारत में हर 10 साल में एक बार सरकार द्वारा जनगणना करवायी जाती है। इससे किसी निर्दिष्ट प्रान्त तथा राज्य में रहने वाले सभी नागरिकों के परिचय प्राप्त करने के साथ साथ उनके धर्म, जनजाति समूह तथा आर्थिक स्थितियों का भी पता लगाया जाता है। 

2011 के जनगणना के अनुसार राजस्थान की कुल आबादी 68,548,437 है।  जिनमे लगभग 35,554,169 पुरुष और 32,994,268 महिला शामिल है। अनौपचारिक आधार को माने तो 2022 तक इसकी कुल आबादी 79,502,437 के आसपास है, जिनमे 41,235,725 पुरुष तथा 38,266,753 महिला है।

भारत सरकार के द्वारा 2021 की जनगणना अनिर्दिष्ट काल तक स्थगित होने के कारण इसका सही अंदाज़ा लगा पाना काफी मुश्किल है। फिर भी पिछले आंकड़े तथा वृद्धि पर नजर डाले तो यह अंदाज़ा सही परिलक्षित होता है।

जनसंख्या के घनत्व के बात करे तो यह प्रति वर्ग किलो मीटर 200 है। धर्म के आधार पर देखा जाये तो 88.49% हिन्दू (60,657,103) , 9.07% मुस्लिम (6,215,377) तथा 0.14% ईसाई(96,430) है।

जयपुर राजस्थान का सबसे आबादी भरा जिला है जिसके जनसंख्या 6,626,178 है और जैसलमेर सबसे कम आबादी वाला जिला (669,919) है।

आशा है आपको हमारा यह पोस्ट अच्छा लगा होगा। पोस्ट के बारे में अपना विचार हमे कमेंट्स में जरूर लिखे।

आपने क्या सीखा ?

हमे आशा है की आपको Rajasthan ki jansankhya ( राजस्थान की जनसँख्या ) विषय के बारे में दी गई जानकारी अच्छी लगी होगी। अगर आपको इस विषय के बारे में कोई Doubts है तो वो आप हमे नीचे कमेंट कर के बता सकते है। आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा।

राजस्थान के बारे में और ज्यादा पढ़े

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *